Thursday, July 26, 2007

अगर मर्द औरत हो जाए

3 टिप्पणियाँ




मर्दो को कौसों नही महिलाओ जी आप ।


केवल करती क्यूँ हैं जुल्मों का ही जाप ।


जुल्मों का ही जाप,अच्छाइ नजर ना आए,


कभी जाएं होटल में जरा पकौड़ी खाएं ।


***********


अगर खुदा मर्द में औरत के गुण भर दे।


रोते-रोते देंगी अपनी, मर्द के हाथ में पे ।


मर्द के हाथ में पे,हम भी मौंज करेगें,


अपनी मागं मे सिंदूर तुम्हारे नाम भरेगें ।


*************


अगर मर्द औरत हो जाए होगा बहुत उपकार ।


शीशे सामने बैठ कर दिन भर करें सिगांर ।


दिन भर करें सिगांर,पड़ोसन संग बतियाएगें,


पतियों को कौसेगें अपने गुन गाएंगें ।


**************

3 टिप्पणियाँ:

Anil Arya says:
August 1, 2007 at 5:10:00 PM GMT+5:30

रब आपकी इच्छा पूरी करे !!!!

prabhakar says:
August 1, 2007 at 5:35:00 PM GMT+5:30

ये क्य सूझा आपको?
खैर अच्छा ही है

Udan Tashtari says:
August 1, 2007 at 10:14:00 PM GMT+5:30

:)

वैसे प्रयास करने पर संभव है. विज्ञान बहुत प्रगती कर गया है. हा हा!!

Post a Comment